September 23, 2021

HP full form in Hindi – HP company का क्या मतलब है?

HP full form – Hewlett-Packard

क्या आप भी कंप्यूटर या लैटपटाप पर काम करते हैं, तब तो आपने HP का नाम जरूर सुना होगा। इसके लैपटाप, प्रिंटर्स, हर जगह इस्तेमाल किए जाते हैं। सरकारी हो या निजी संस्‍थान ज्यादातर HP के हार्डवेयर, नेटवर्किंग प्राडक्ट इस्तेमाल करती हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि HP की फुल फार्म क्या है? इसका नाम HP क्यों पड़ा या HP के नाम से क्या-क्या जुड़ा है? अगर नहीं, तो हम आपको आज इन सभी बिंदुओं पर जानकारी मुहैया कराएंगे-

HP full form in Hindi

HP कंप्यूटर और IT से रिलेटेड product बनती है तो जानते है HP full form in Hindi के बारे में.
HP full form in Hindi

HP की फुल फार्म – Hewlett-Packard

Hp in Hindi – हैवलेट-पैकर्ड है.

यह USA की बड़ी कंपनियों में से एक है, जो कंप्यूटर, नेटवर्किंग हार्डवेयर और कंप्यूटर स्टोरेज आदि बनाने और डेवलप करने के काम में जुटी है।

HP नाम कैसे बना?

HP विलियम बिल रेड‌िंगटन हेवलेट के एच और डेव पैकर्ड के पी को लेकर बना है। ये दोनों इसके संस्‍थापक थे, जिन्होंने मिलकर कंपनी को एक जनवरी, 1939 में स्‍थापित किया। इनका सबसे शुरुआती ग्राहक वाल्ट डिजनी था। कंपनी का हेडक्वार्टर यानी मुख्यालय कैलिफोर्निया, यूएसए में है। HP की यूएसए के अलावा भारत, रूस और चीन में भी मैन्युफेक्चरिंग प्लांट  या रिसर्च लैब है।

ये भी जाने –

HP के products क्या क्या है?

HP प्रिंटर की बड़ी रेंज यानी डेस्क जेट इंक टैंक, लेजर जेट, डिजाइन जेट, आफिस जेट के साथ ही   नोटबुक, आन-इन-वन डेस्कटाप, टेबलेट, मोबाइल वर्कस्टेशन, डेस्टटाप वर्क स्टेशन, स्कैनर, थिन क्लायेंट, मानिटर आदि के निर्माण से जुड़ी है।

HP post में हमारी राय

टेक्नोलोजी और इनोवेशन के बाजार में HP काफी समय से बाजार में छाई है। इसके उत्पाद सभी जगह इस्तेमाल किए जाते हैं। पूरी दुनिया में इसके करीब साढ़े तीन लाख कर्मचारी हैं। इसने करीब तीन साल पहले एक नवंबर, 2015 को पीसी और प्रिंटर के बिजनेस को अलग कर दिया। इससे दो अलग-अलग कंपनियों: HP Inc. और Hewlett-Packard Enterprise ने काम करना शुरू कर दिया है।

HP 1957 में सार्वजनिक उपक्रम बना और 1961 में न्यूयार्क स्टाक एक्सचेंज में इसकी लिस्टिंग हुई। इसके अगले साल ही HP दुनिया की टॉप 500 कंपनियों की लिस्ट Fortune 500 शुमार हो गई। इसके अगले साल 1963 में HP ने एशियाई बाजार में कदम रखा ।

ये भी जाने –

इसके बाद से कंपनी का ग्राफ लगातार बढ़ा है। कंप्यूटर, प्रिंटर आदि इस्तेमाल करने वाला तकरीबन हर कोई ऐसा होगा, जिसने HP के प्रोडक्ट इस्तेमाल किए हों, या अपने दोस्तों या परिचितों के पास देखा हो। कई लोगों को तो HP के प्राडक्ट इतने भाते हैं कि वह जब भी हार्डवेयर, नेटवर्किंग से जुड़े प्राडक्‍ट खरीदने जाते हैं तो दुकानदार से सीधे HP की मांग करते हैं।

अपनी इस क्वालिटी को बनाए रखने के लिए और लगातार डिजाइन इनोवेशन के लिए HP रिसर्च पर भी खासा खर्च कर रही है। अपने प्राडक्ट्स को भारतीय बाजार के मुताबिक डेवलप करने के लिए ही उसने यहां भी अपनी रिसर्च लैब स्‍थापित की है। इसके जरिये बड़े युवाओं को रोजगार भी हासिल हुआ है।

इस पोस्ट में हम ने जाना की HP क्या है और HP full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!