May 22, 2022

TRAI Full Form in Hindi

भारतीय दूरसंचार विनियामिक प्राधिकरण – TRAI Full Form in Hindi

Telecom Regulatory Authority of India is known as TRAI.

Telecome Regulatory Authority of India written in Hindi and English

TRAI स्थापना वर्ष

20 फरवरी 1997 को भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण अधिनियम (TRAI Act 1997) के अंतर्गत TRAI की स्थापना हुई।

जाने TCS के बारे में

BHEL महारत्न कम्पनी फुल फॉर्म

तीन साल बाद TRAI Act में सुधार किया गया और यह TRAI (Amended) Act 2000 बना।

इस amendment के फलस्वरूप Telecom Dispute Settlement Appellate Tribunal (TDSAT) की स्थापना की गई।

TRAI का काम क्या है ?

TRAI Logo

TRAI Logo

Telecom Regulatory Authority of India का काम मोबाइल कम्पनियों के मनमानेपन पर लगाम लगाना है और आम आदमी की दूरसंचार सम्बन्धी सुविधाओं को लगातार बेहतर बनाते रहना है।

दूरसंचार सेवाओं को नियंत्रित करने के साथ-साथ टेलीकॉम सेक्टर में होने वाले विवादों को सुलझाने का काम TRAI का ही होता है।

लेकिन सन 2000 में TDSAT के बन जाने के बाद विभिन्न प्रकार के विवादों को सुलझाने का काम इसे सौंप दिया गया।

TRAI 2016 महत्वपूर्ण निर्णय

Telecom Regulatory Authority of India ने 2016 में उपभोक्ताओं के लिए बहुत ही बड़ा और लाभकारी फैसला लिया।

1 जनवरी 2016 से यह निर्णय लागू किया गया कि अब से कॉल ड्राप होने पर उपभोक्ता को 1 रुपये का मुआवजा मिलेगा।

कॉल ड्राप का मतलब फ़ोन पर बातचीत का बीच मे ही अचानक कट जाना होता है।

No Monitoring Authority on Indian Media

आपको शायद यह पता हो कि Indian Media Channels को monitor करने के लिए कोई भी अलग संस्था नही है।

Editors Guild of India के नाम से एक संस्था है लेकिन इसका भी नियंत्रण खुद पत्रकारों के हाथ मे ही है और सरकार का इसपर कोई नियंत्रण नही है।

जिस तरह से Office of Communication (OFCAM) का काम लन्दन की मीडिया को नियंत्रित करना, Federal Communications Commission (FCC) का काम अमेरिका की मीडिया को नियंत्रित करना है, इसी तरह से Indian Media Channels को नियंत्रित करने का काम भी TRAI को ही सौंपा गया है।

TRAI members की संरचना

Dr. PD Vaghela speaking

TRAI Chairman Dr. PD Vaghela

TRAI में केंद्र सरकार द्वारा चुना गया एक Chairman होता है। इसके अलावा दो full-time members और इतने ही part-time members होते हैं।

Dr. PD Vaghela इस समय TRAI के Chairman हैं जो कि गुजरात कैडर के 1986 बैच के IAS Officer रह चुके हैं।

TRAI Chairman के पद पर हमेशा IAS को ही चुना जाता है।

जिन व्यक्तियों को इन पदों के लिए चुना जाता है उनके पास मुख्य रूप से Telecom, Finance या management sector में काम करने का अनुभव होना चाहिए।

उम्मीद है TRAI Full Form in Hindi की यह जानकारी आपको पसन्द आयी होगी। इसे अपने उन दोस्तों के साथ शेयर करें जिन्हें TRAI Full Form जानने की जरूरत है ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *