March 7, 2021

UPS full form in Hindi – UPS किस काम आता है?

UPS full form- Uninterrupted power supply

अब वह जमाना नहीं कि बिजली जाने पर सारे काम ठप हो जाएं। अब बिजली जाए भी तो कोई बात नहीं पावर बैक अप के इतने साधन हैं कि आपके काम पर असर नहीं पड़ता। यह जरूर है कि हर बैक अप की अपनी सीमा होती है। वह उतनी ही देर काम देता है, जितनी देर की उसकी चार्जिंग या क्षमता होती है। आपने देखा होगा कि बिजली जाने पर कई जगह UPS आन कर दिया जाता है।

लेकिन आप क्या जानते हैं कि UPS full form क्या है? इसके पार्ट कौन-कौन से हैं? यह कैसे काम करता है? अगर नहीं तो हम आपको इसके संबंध में सारी जानकारी देंगे-

UPS full form in Hindi

UPS की फुल फार्म है – Uninterrupted power supply

UPS in Hindi – अनइंटरेप्टेड पावर सप्लाई।

इन्हे भी जानें-

PUC full form – PUC की जानकारी अलग अलग फील्ड में?

IMPS full form in Hindi – IMPS क्या है?

UPS क्या है?

इसे हिंदी में बिना बाधा के विद्युत आपूर्ति भी पुकारा जाता है। UPS एक बैकअप देने वाला साधन है, जिसके जरिये कंप्यूटर या किसी भी दूसरे इलेक्ट्रिक उपकरण को बिजली न रहने पर भी चला जा सकता है। दरअसल, यह बैटरी से संचालित उपकरण है जिसके द्वारा कंप्यूटर में लगातार बिजली आपूर्ति बनी रहती है।

UPS को कंप्यूटर से जोड़ने के लिए इसे आपको अपने कंप्यूटर से कनेक्ट करना होगा और इसके स्विच को ऑन रखना होगा, ताकि यह चार्ज होता रहे।

UPS के फायदे?

यह डाटा का बैक अप भी देता है। दरअसल, कंप्यूटर के अचानक बंद होने से डाटा लास होने का पूरा खतरा होता है, लेकिन UPS के होने से इस बात की चिंता नहीं रहती। यह इतना समय देता है कि आप कंप्यूटर को सुरक्षित तरीके से शट डाउन कर सकें। यह कंप्यूटर को बिजली के हाई वोल्टेज से भी बचाता है।

आपको यह भी बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा UPS अलास्का में है। यह 46 मेगावाट का है|

UPS के types

UPS कई तरह के हैं।

एक होता है स्टैंड बाई UPS। यह आपके कंप्यूटर को तब सप्लाई देता है, जब आपके कंप्यूटर का मेन पावर बंद हो जाता है। यह UPS चार्ज होने के बाद और पॉवर आफ होने पर उस कंज्यूम्ड पॉवर को कंप्यूटर को सप्लाई करता है।

लाइन इंटरेक्टिव UPS हाई और लो वोल्टेज के समय समुचित वोल्टेज प्रदान करता है। इन्वर्टर दो तरह से काम करता है। एक जब मेन पावर आफ होती है, जो यह बैटरी को चार्ज करता है और वोल्टेज को रेगुलेट करता है। डबल कन्वर्जन UPS में सुधार करके डेल्टा कन्वर्जन UPS बनाया गया है।

UPS के तीन हिस्से मुख्य हैं। रेक्टिफायर जो कि अल्टरनेटिव करंट को डायरेक्ट करंट में तब्दील करता है। इसका इस्तेमाल बैटरी को चार्ज करने में होता है। एक इन्वर्टर और एक बैटरी, जिसकी क्षमता पर इसकी परफार्मेंस आधारित होती है।

इन्हे भी जानें-

HTML full form – HTML क्या है?

XML full form in Hindi – XML language किस काम आती है?

UPS पोस्ट पर हमारी राय

आप किसी भी काम से जुड़े हों, खास तौर पर कंप्यूटर के तो बगैर UPS के आपका काम चल ही नहीं सकता। बिजली की सप्लाई कभी-न-कभी बाधित होती ही है। कभी घोषित तरीके से तो कभी अघोषित रूप से। बड़े शहरों में तो आम तौर पर बिजली सप्लाई का बुरा हाल रहता है। ऐसे में UPS के बगैर लगातार काम करने की आप सोच भी नहीं सकते।

इस पोस्ट में हम ने जाना की UPS क्या है, UPS के फायदे, UPS के types और UPS full Form in Hindi के बारे में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!