March 3, 2021

OTP full form – OTP क्या है?

आजकल हमने लगभग सभी ऑनलाइन जगहों पर काम करते समय OTP का ज़रूर इस्तेमाल होते देखा होगा। लेकिन बहुत से लोग OTP के बारे में नहीं जानते। क्या आप OTP का फुलफॉर्म जानते हैं? OTP का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? या फ़िर ये हमारे लिए किस तरह से फायदेमंद है?

अगर आप OTP के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते, तो यह पोस्ट आपके लिए ही है। इस पोस्ट में हम आपको न केवल OTP full form बाताएंगे बल्कि OTP से जुड़ी बेहद ज़रूरी जानकारियां भी देंगे।

OTP full form in Hindi

OTP का फुलफॉर्म – One Time Password.

OTP क्या होता है?

OTP एक तरह का वेरिफिकेशन कोड या पिन होता है, जिसे हमारे ऑनलाइन सुविधाओं को सुरक्षित रखने के लिए बनाया गया है, इसका इस्तेमाल केवल एक ही बार किया जा सकता है, इसीलिये इसे One Time Password कहते है।

जब भी हम कोई ऑनलाइन काम जैसे- शॉपिंग करना, ऑनलाइन अकाउंट बनाना, Login करना, ऑनलाइन पेमेंट करते हैं तो उसके लिए हमेशा एक OTP नंबर माँगा जाता है जो की हमारे रजिस्टर किये हुए मोबाइल नम्बर या फ़िर ईमेल पर भेज दिया जाता है। यह 4 , 6 या फ़िर 8 अंको का भी हो सकता है। बिना OTP के आपके ये काम पूरे नहीं हो पाएंगे।

OTP का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

क्योंकि आजकल लगभग हमारी कई सुविधाओं को डिजिटल कर दिया गया जिसमें पैसों के लेन-देन और ऑनलाइन सर्विसेज भी शामिल हैं इसीलिये किसी भी तरह की ऑनलाइन धोखादड़ी और फ़्रॉड से बचने के लिए और हमारे ऑनलाइन सुविधाओं को सुरक्षित रखने के लिये OTP का इस्तेमाल किया जाता है। इससे नेटबैंकिंग , सोशल अकाउंट ,ऑनलाइन शॉपिंग और हमारे कई तरह की ऑनलाइन एक्टिविटीज को सुरक्षा मिली।

OTP का सबसे ज्यादा इस्तेमाल नेटबैंकिंग और ऑनलाइन पेमेंट्स को सुरक्षित बनाने में होता है। एक बार इस्तेमाल किया हुआ OTP दोबारा इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। OTP का इस्तेमाल भी एक निश्चित समय सीमा के अंदर ही किया जा सकता है जो कि 10 मिनट से लेकर 30 मिनट का होता है। इसके बाद आप पुराने OTP का इस्तेमाल नहीं कर सकते।

यह भी ध्यान दें कि- अपना OTP यानि की One Time Password किसी से शेयर न करें, जिससे आपकी निजी जानकारी सुरक्षित रहें। नहीं तो आपका बैंक अकाउंट, शोशल अकाउंट या फिर ऑनलाइन पेमेंट Hack भी हो सकता है।

OTP कैसे इस्तेमाल किया जाता है?

जब हम कोई ऑनलाइन काम जैसे ऑनलाइन पेमेंट करना, अकाउंट बनाना या नेटबैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो उस वेबसाइट या बैंक से हमारे द्वारा रजिस्टर ईमेल या फ़ोन नम्बर पर एक वेरिफिकेशन कोड भेजा जाता है जो की कुछ समय तक के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है। इस कोड को आपको सम्बंधित जगह पर वेरीफाई कराना होता है। जो तय करता है की यह सुविधा आपके द्वारा ही इस्तेमाल की जा रही है। और आपका सारा डाटा सुरक्षित रहता है।

OTP को हम 3 तरीक़े से प्राप्त करते हैं

  • Email से – इसका इस्तेमाल काफ़ी कम किया जाता है, लेकिन हम अपनी इच्छा से OTP भेजने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते है।
  • Voice call से – इसमें आपके द्वारा रजिस्टर नंबर पर कॉल करके OTP बताया जाता है। बहुत सी सोशल सर्विसेज और ऍप्लिकेशन्स में इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  • SMS से – OTP भेजने के लिए सबसे ज्यादा SMS का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें आपके रजिस्टर मोबाइल नम्बर पर मैसेज करके OTP भेजा जाता है।

धियान रखने वाली बाते

OTP कई तरह से हमारे ऑनलाइन एक्टिविटीज़ को सुरक्षित करता ही है लेकिन इससे सावधानी बरतना भी बेहद ज़रूरी है।

  • OTP को कभी किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए।
  • अपने मोबाइल को ज़्यादा लोगों के हाथ में नहीं देना चाहिए।
  • यदि आपका मोबाइल चोरी हो जाता है या खो जाता है तो तुरंत उस बैंक या ऑनलाइन सर्विस से जुड़ी अथॉरिटी को सूचना दे देनी चाहिए। जिससे की आपकी OTP सुविधा को वेरीफाई करने तक बंद कर दिया जाता है। और आपकी सारी जानकारी सुरक्षित हो जायेगी।

OTP पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना OTP क्या है, OTP के फायदे और OTP full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!