March 3, 2021

NAAC Full form in hindi

भारत में दुनिया की सबसे बड़ी और विविध शासन प्रणाली है, व्यापक विस्तार, बढ़ती स्वायत्तता, निजीकरण और नए उभरते क्षेत्रों में कार्यक्रमों की शुरुआत ने उच्च शिक्षा तक पहुंच में सुधार किया और उच्च शिक्षा की गुणवत्ता ओर प्रासंगिकता पर भी चिंता व्यक्त की। इन्हीं चिंताओं को दूर करने के लिए Programme of Action (POA,1992), National Policy on Education (NPI,1986) ने नीतियों की योजना बनाई व एक स्वतंत्र राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त एजेंसी की स्थापना की वकालत की। और इन्ही सभी प्रयासों का ये परिणाम हुआ कि 1994 में राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद (National Assisment and Accreditation Council) विश्वविद्यालय अनुदान आयोग UGC के एक संस्थान के रूप में अपने Head Office के साथ बंगलुरु में स्थापित किया गया था।

NAAC Full form In Hindi- National Assisment and Accreditation Council (नेशनल असिस्मेंट एंड ऐक्सिडेरेशन कौंसिल )
यह संस्थान के गुणवत्ता दर्जे को समझने के लिए विश्वविद्यालय, महाविद्यालयों व अन्य मान्यता प्राप्त संस्थानों जैसे उच्चतर शिक्षा संस्थानों (HEI) के मूल्यांकन तथा प्रत्यापन की व्यवस्था करता है। NAAC अपने सामान्य परिषद GC और कार्यकारी समिति EC के माध्यम से कार्य करता है, जिसमे भारतीय उच्च शिक्षा प्रणाली के क्रॉस-सेक्शन से शैक्षिक प्रशासक, वरिष्ठ शिक्षाविद, व नीति निर्माता शामिल हैं।इसका पूरा नाम ‘राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यापन परिषद’ है।
वर्तमान में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(UGC) के स्वायत्त संस्थान, राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (NAAC) की कार्यकारी समिति के अध्यक्ष प्रो. वीरेन्द्र सिंह चौहान हैं। प्रो. धीरेंद्र पाल सिंह (डी. पी. सिंह) वर्तमान में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(UGC) के अध्यक्ष हैं एवं प्रो. एस. सी. शर्मा शिक्षाविद, अनुसंधानकर्ता व प्रशासक हैं।

इसे भी जाने-

CAA, CAB तथा NRC me antar

XML full form in Hindi – XML language किस काम आती है?

NAAC का क्या काम है ? Work of Naac

इसका उद्देश्य उच्चतर शिक्षण संस्थानों में शिक्षण ; अधिगम तथा अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए शैक्षणिक परिवेश को प्रोत्साहित करना।
•गुणवत्ता से संबंधित अनुसंधान अध्ययन, सलाह व प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करना।
•गुणवत्ता मूल्यांकन, संवर्धन और संपोषण के लिए उच्चतर शिक्षा के अन्य हितधारकों को सहयोग प्रदान करना।
•उच्चतर शैक्षणिक संस्थानों या उनकी इकाइयों, या विशिष्ट शैक्षणिक कार्यक्रमों या परियोजनाओं के आवधिक मूल्यांकन व प्रत्ययन की व्यवस्था करना।
•देश के HEI के बीच निम्न मूल्यों को बढ़ावा देना-
प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा देना।
उत्कृष्टता खोज करना ।
छात्रों के बीच मूल्य प्रणाली बढ़ाना ।
राष्ट्रीय विकास के प्रति योगदान।
छात्रों के बीच वैश्विक क्षमताओं को बढ़ावा देना है।

●दिल्ली में स्थित NAAC कार्यालय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन की प्रक्रिया में समन्वय स्थापित कर उत्तरी क्षेत्र के विश्वविद्यालयों एवं विद्यालयों में जागृति कार्यों को सम्पन्न करना  हिंदी में विज्ञापन संबंधी सामग्री निर्माण करना, सरकार वैधानिक एवं नियामक मंडलों से संपर्क बनाना और रोजमर्रा के कार्यों में केंद्रीय विभाग के रूप में कार्य करना, मूल्यांकनकर्ताओं की जानकारी का संवर्धन करना अन्य लक्ष्य है।

●यह राष्ट्रीय विधि विद्यालय के सामने बंगलुरु विश्वविद्यालय के ज्ञानभारती परिसर, नागरभाबी में स्थित है। इमारत का डिजाइन अपने आप में अनोखा है। NAAC कार्यालय, वास्तुकला की राष्ट्रीय स्तर की खुली स्पर्धा में प्रथम प्राप्त डिजाइन पर बनी व्यवहारिक और शानदार इमारत में से एक है। NAAC का कार्यालय का विस्तृत परिसर 5 एकड़ में व्याप्त है। NAAC परिसर में कार्बन मुक्त पर्यावरण अनुकूल, ऊर्जा संरक्षण और वर्षा जल संरक्षण जैसी प्राथमिकताओं को कार्यान्वित किया जा रहा है। वनीकरण तथा पर्यावरण के प्रति संवेदनशीलता की ओर कदम बढ़ाते हुए NAAC ने अपने परिसर में सुव्यवस्थित उद्यान लगाकर पोषित किया है। मैसूर बागवानी संस्था, लालबाग द्वारा आयोजित बागवानी प्रदर्शनी में NAAC उद्यान लगातार पुरुस्कार प्राप्त कर रहा है तथा अपने बेहतरीन रख- रखाव के लिए प्रशंसा का पात्र बना है।
NAAC में उपलब्ध फूलों, फलों, औषधिय, सजावटी पौधों, आवासी तथा गैर आवासी पेड़-पौधों को पहचानकर उनका दस्तावेजीकरण किया गया है। पौधों को 4 वर्गों में विभाजित किया गया है, और उनको परिवार, वनस्पति वैज्ञानिक नाम व 3 भाषाओं (हिंदी, अंग्रेजी व कन्नड़) में सर्वसामान्य नाम से चिन्हित किया गया है। साथ ही इनसे जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां भी दी गयी हैं। यह NAAC द्वारा किया गया एक अनूठा प्रयास है, जो बहुत से पेड़ पौधों के जानकारों और शौकीनों को अपनी ओर आकर्षित कर अपनी एक अलग पहचान बना रहा है।

2 thoughts on “NAAC Full form in hindi

  1. MY NAME IS Abhishek ^~********AND MY FATHER’S NAME IS SUMER SINGH^~********MY MOTHER’S NAME IS SOBHA INDARANI^~********I AM INTERESTED IN NASA STUDY^~********MAIN KYA KYA KARU JAHA PER MAIN FREE BOOKSZZZ SEY PADHAI KAR SAKU OR MERE KO POCKEYT MONEYZZZ BHIEY MILLEY SAKEY KUOKI MAIN HOON GARIB GHAR KA APNE PASS PAISE MATLAB RUPEE NAHI HAIN OR MERA mindlessness HUA WA HAI MAIN DEKH SAKTA HOON BAS EK ROBOT KI TARAH HO CHUKA HOON KAAFI TIME SEY MAIN GHAR MEIN BINA BOLE SHORT TERM MEMORY LOSS PATIENTBAN CHUKA HOON KI MERE KO KOI HELP MEELEEY TO MAIN EK “WORLD ABHISHEK DAHIYA NASA AMRIT SHILAJIT RESEARCHZ KHOJIEY” BANNAAAA CHAHUNGAAA,,,,,,,,,,,,,31AGE,,,,,,,,5JULY1989,,,,DAY-TUESDAY,,TIME:02:09PM,CAST-JULAHE,US SAMAY KA BIODATA – MAIN PAIDA HUA THA,30ZZZ…..REAL DATE 28JUNE 1989..DAY-SATURDAY.TIME:04:29AM,,US DIN EK BORN HUA THA BHAWISHYAWAANIY PUSHTAK KA JANAM HUA THA USKA BHI NAAAAAAAMMMMM ABHISHEK DAHIYA THA VANDEY MAATRAM TRAIN KE PICHEY HUA THA EK BHAWISHAYAAAAVAAAAAANNNNNIIIIIII ABHISHEK SHESHNAG NAAM,,,,,,,,,,,,,….ANATHKASAZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZWO BHI GARIB GHAR KA THA USKO BHI MOUKA DIYA THA PADHNEY KAAAAA AGAR AAAPKI KRIPA SEY MOUKA MIL JAYE TO MAIN BHI STUDY KARNE KEY LIYE MERE MIND KO THIK KAR SAKU MAIN BHI MIND CASE SOLVERLIFE SAVER DOCTOR WHO BANNNNAAAA CHAHTAAA HOOOON,,,,,,,,,,..US DIN SHANI DEV PAIDA HUA THA OR SAMEERTA SCIENTISTZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZZNASAZZZZZZZZZZZBOXERZZZZZZZZZZZPAIDA HUWA THAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAAA…………..21ZZZ

    1. MERE KO MERE GHAR MEIN BETHEY BETHEY MERE UPAR KOI MAARTA REHTA HAIN MERA DUM GHUTA HUA MERA MIND SUNNNNNN HO CHUKA HAI MAIN DEATH KEY LEVEL PER AAA GAYA HOON ANATH ABHISHEK BHRAMCHARI EK CHOTIY SIEY LOOOLIIIEEEYYY WAAAAALAAAA SIMPLE BOY ABHISHEK JULAHE REFERENCE … EMA MAULA MAULAMA NOMPDA DAWD EBHVRAOUEM SANTISTMNBVCXZ@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@@KEY PENDRIVE.MASTER PIN EVIDENCE.PROOF M498PROOFSHAMPOOOOOOOOOO……LAVA A1 ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!