March 2, 2021

GATE full form – GATE entrance exam क्या है?

दोस्तों हम सभी ने कभी ना कभी तो GATE Exam के बारे में जरूर ही सुना है। इसके साथ ही हम यह भी जानते हैं कि GATE का Exam इंजीनियरिंग के Field से जुड़ा हुआ है।

लेकिन अगर बात की जाए GATE के फुल फॉर्म की तथा इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे कि GATE Exam किन Subject के लिए दिया जाता है? GATE का Exam कब होता है? तथा GATE Exam में बैठने के लिए Candidate की Minimum Eligibility क्या है? तथा इस GATE Exam को देने के लिए क्या Fee देनी होती है? आदि सब जानकारियां हर किसी के पास नहीं होती है।

इसीलिए आज हम आपको ना सिर्फ GATE Full form बताएंगे बल्कि इससे जुड़ी अन्य सभी महत्वपूर्ण जानकारियां भी आपको उपलब्ध कराएंगे।

दोस्तों इस क्रम में आइये सबसे पहले जान लेते हैं कि GATE का फुल फॉर्म क्या होता है?

GATE full form in Hindi

GATE का फुल फॉर्म – Graduate Aptitude Test in Engineering

GATE meaning in Hindi – ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग

GATE क्या है?

दोस्तों GATE एक ऐसा Exam है जो कि Engineering Field में Master Course में Admission लेनें के लिए दिया जाता है। GATE का Exam प्रतिवर्ष Indian Institute Of Science तथा भारत की 7 IIT द्वारा कराया जाता है। GATE Exam में Candidate अपने Marks के अनुसार Engineering के विभिन्न Master तथा Phd के प्रोग्राम में Admission ले सकता है। इसके साथ ही GATE के Marks के अनुसार आप विभिन्न सरकारी विभागों में Job भी ले सकते हैं।

GATE भारत के सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक माना जाता है। इस Exam का Duration 3 घण्टे का होता है जिसमें Candidate को अपने Engineering Subject से Related प्रश्न हल करने होते हैं। हर साल इस Exam में बैठने वाले Candidate में से मात्र 15 प्रतिशत Candidate ही इसमें सफ़ल हो पाते हैं। ये 15 प्रतिशत Student ही विभिन्न IIT तथा IIS में M.Tech अथवा M.Sc. के प्रोग्राम में Admission ले पाते हैं। इसके साथ ही ये Candidate विभिन्न Govt Sector में Job के लिए भी Shortlist होते हैं।

GATE exam की शुरुआत

GATE Exam की शुरुआत साल 1984 में Engineering तथा Science के विभिन्न Master प्रोग्राम में Admission देने के लिए शुरू किया गया। इस Exam को पास करके विभिन्न IIT तथा NIT के कॉलेज के Master प्रोग्राम में Admission ले सकते हैं। तब से हर साल फ़रवरी के महीने में ये Exam Organize किया जाता है। भारत सहित दुनिया भर के लगभग 660 Centre पर हर साल ये Exam कराया जाता है।

GATE का Exam भारत के साथ ही बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, सिंगापुर,इथियोपिया, यूनाइटेड अरब अमीरात में भी ये Exam कराया जाता है। ये Exam सिर्फ़ English Language में दिया जाता है। इस Exam में आये Marks के अनुसार Candidate विभिन्न कॉलेजों में पोस्ट ग्रेजुएशन में Admission लेने के साथ ही विभिन्न सरकारी विभाग में Job भी पा सकते हैं।

IIT तथा IIS में Admission के साथ ही बहुत से अन्य कॉलेजों ने भी अपने यहाँ Master प्रोग्राम में Admission देनें के लिए GATE Exam पास करना अनिवार्य कर दिया है। इसलिए सभी Engineering Graduate को Master Degree लेने के लिए GATE पास करना आवश्यक है।

GATE exam देने के फायदे

पिछले कुछ सालों में GATE Exam का Standard और High हो गया है। अब तो कुछ विदेशी Universities भी GATE Exam में Candidate के Marks के अनुसार ही अपने यहाँ Student को Ph.D तथा अन्य Master प्रोग्राम में Admission देती हैं। इनमे National University Of Singapore तथा जर्मनी की भी कुछ बड़ी यूनिवर्सिटी शामिल हैं जो कि Candidate की योग्यता का निर्धारण GATE में आये Marks के अनुसार करती हैं।
दोस्तों इसी क्रम में अब आइये जान लेते हैं कि GATE Exam को देने के लिए Candidate की Eligibility क्या होनी चाहिए।

GATE के लिए Minimum Eligibility –

  • GATE Exam सिर्फ़ वही Candidate दे सकते हैं जो जिनके पास Engineering के किसी भी Field में Degree हो.
  • B.Tech अथवा B.Sc. के Final Year के Student या फ़िर इसकी Degree रखनें वाले Student भी GATE की परीक्षा दे सकते हैं।
  • वो Candidate जो कि AMIE अथवा Institute of Civil Engineers (ICE) से Recognized Course कर रहे हैं या फ़िर B.tech या B.E. के Equivalent कोई Degree रखते हैं वो भी GATE का Exam दे सकते हैं।
  • GATE के Exam के लिए कोई न्यूनतम या फ़िर अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नहीं की गयी है। कोई भी Candidate जो कि Engineering या फ़िर इसके Equivalent हो वो ये Exam दे सकता है। फ़िर चाहे उसकी उम्र कितनी भी क्यों ना हो।

GATE के फ़ॉर्म की Fee –

GATE Exam को देने के लिए कोई भी व्यक्ति इसके Form को भरकर इसे दे सकता है। भारत सरकार ने इसके Form की कीमत सामान्य वर्ग के Male Candidate के लिए 1500 निर्धारित किया है। वहीं Female Candidate के लिए इसके Form की क़ीमत 700 रुपये निर्धारित है।

GATE exam में बदलाव

दोस्तो पिछले कुछ सालों में GATE के Exam के Pattern तथा इसके नियमों में काफ़ी बदलाव किए गए है। इसी क्रम में आइये ये भी जान लेते हैं कि GATE Exam के Pattern में क्या क्या बदलाव किए गए हैं।

  • साल 2009 में Computer Science तथा Information Technology को एक में ही कर दिया गया। अब GATE के Exam में इन दोनों ही Branch के लिए एक ही Paper लिया जाता है।
  • साल 2010 से पहले किसी Candidate के GATE Exam का Mark सिर्फ़ एक साल के लिए Valid होता था। लेकिन 2010 के बाद से इसे 2 वर्ष के लिए Valid कर दिया गया। अब आप GATE Exam में आये Marks के Base पर 2 साल तक किसी भी कॉलेज में Admission ले सकते थे। इसके बाद साल 2014 में इस Exam को 3 साल के लिए Valid कर दिया गया।
  • साल 2015 में GATE Exam को फॉर्म से लेकर Exam तक सब कुछ online कर दिया गया।
  • साल 2017 में ये नियम बनाया गया कि विदेशी Student भी GATE के Exam को दे सकते हैं।

GATE पोस्ट पर हमारी राय

दोस्तो जो स्टूडेंट B.Tech या इसके Equivalent कोई Degree लेने के बाद Master की Degree लेना चाहते हैं उनके लिए GATE Exam बहुत महत्वपूर्ण हैं। बिना इस Exam को पास किये आप किसी भी अच्छे संस्थान में Master के Course में Admission नहीं ले सकते।
इस पोस्ट में हम ने जाना GATE क्या है, इस के फायदे, GATE exam के लिए eligibility और GATE full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!