March 2, 2021

CNC full form – CNC क्या है?

दोस्तों CNC मशीन के बारे में आप सभी ने जरूर सुना होगा। हो सकता है आप सभी ने इस मशीन को देखा भी होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि CNC full form क्या होता है?

अगर नहीं जानते तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि CNC का फुलफॉर्म क्या होता है? CNC मशीन कैसे काम करता है? तथा CNC मशीन का Use कब और कहाँ पर किया जाता है?
इस क्रम में आइये सबसे पहले जानते हैं कि CNC का फुलफॉर्म क्या होता है?

CNC full form in Hindi

इस पोस्ट में जानेगे CNC machine और CNC full form के बारे में.
CNC full form in Hindi

CNC का फुलफॉर्म – Computer Numerical Control

CNC in Hinid – कम्प्यूटर न्यूमेरिकल कन्ट्रोल

CNC क्या है?

CNC एक ऑटोमैटिक मशीन है, जो कि Computer द्वारा संचालित की जाती है। अधिकतर CNC मशीन का Use मैकेनिकल Tools तथा मशीन आदि के निर्माण में किया जाता है। CNC मशीन का Use लोहे के उपकरण तथा बोरिंग, Lathe आदि बनाने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही इस मशीन का प्रयोग Metal, Plastic, Wood आदि Material से विभिन्न आकार के Design तथा उपकरण बनाने का काम किया जाता है।

1970 के दशक के अंत में Computer Aided Design (CAD) और Computer Aided Machining (CAM) की मदद से, सीएनसी मशीनों ने पुराने स्कूल मैनुअल मशीनों का स्थान ले लिए है | नई सीएनसी मशीनों को अधिक सटीकता के साथ कार्य की एक विस्तृत विविधता को पूरा करने के लिए प्रोग्रामिंग भाषा द्वारा नियंत्रित किया जा सकता था । ये मशीनें अधिक स्वचालित नियंत्रण की अनुमति देती हैं, जिससे उत्पादकता में सुधार होता है

दोस्तों अब आइये इसके काम करने के Pattern को भी समझ लेते हैं।

कैसे काम करता है CNC-

CNC मशीन में जो भी Cutting Tool और Designing Tool लगा होता है वो Computer System से जुड़ा हुआ होता है। अब जो लोहे अथवा प्लास्टिक के जो भी उपकरण बनाने हैं तथा उसमें जो भी Design Cutting कर के बनानी होती है उसे Computer में Feed कर दिया जाता है। अब Computer उसी Design के अनुसार CNC मशीन को Command देता है और CNC मशीन में लगे उपकरण उसी के अनुरूप Cutting करनें का तथा Design बनाने का काम करती है।

किसी भी Product जिसका निर्माण CNC मशीन से करना है सबसे पहले उस Product की Drawing और Size Detail आदि CAD (Computer Aided Design) की मदद से Computer में बना लिया जाता है। अब इस बने हुए Drawing तथा Size Detail को CAM (Computer Aided Manufacturing) के सॉफ्टवेयर की मदद से कम्प्यूटर में Feed कर दिया जाता है। अब Computer उस Detail Drawing की मदद से CNC को मशीन को Command देकर ठीक उसी तरह का Product तैयार कर देता है।

जिन लोहे तथा Plastic के Design बनाने में साधारण तौर पर कई दिन या घण्टे का समय लग जाता है उसे CNC मशीन की दाद से बनाने में बस कुछ ही मिनट का समय लगता है। इसके साथ ही इस मशीन से बने Design की माप में काफ़ी Accuracy होने के साथ ही इससे बनी Design की Quality भी काफ़ी अच्छी होती है।

CNC मशीन का फुलफॉर्म तथा इसके काम करने के तरीके को तो हमने जान लिया अब इसी क्रम में आइये हम CNC की History के बारे में भी थोड़ा जान लेते हैं।

CNC की History –

दुनिया की सबसे पहली CNC मशीन का निर्माण 1940 से 1950 के बीच में बनाया गया था। जो कि साधारण Cutting Tool में Motor लगाकर CNC मशीन का प्रारूप तैयार किया गया था। Moter लगने के बाद साधारण सी Cutting Machine भी तेज़ गति से काम करने लग गयी। इसके बाद धीरे- धीरे समय के अनुसार CNC मशीन में काफ़ी Upgradation देखने को मिला है। Computer तथा CAD की खोज़ के बाद तो CNC मशीन में काफ़ी बदलाव देखने को मिला। CNC मशीन में Computer से जोड़ दिए जाने के बाद इसके काम करने की Speed में तथा Accuracy में भी काफ़ी सुधार आया।

CNC के फायदे क्या है?

CNC मशीन की खोज़ से Mechanical Engineering की Industry में काफ़ी क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिला है। CNC की शुरुआत से मशीन Manufacturing Industry में किस तरह के बदलाव आए हैं तथा किस तरह से इसने हमारा काम आसान किया है, आइये इस पर भी एक नज़र डाल लेते हैं।

  • CNC बहुत कम समय मे अधिक Product का निर्माण कर सकती है।
  • CNC मशीन को चलाने के लिए बहुत कम Man Power की आवश्यकता होती है।
  • CNC मशीन से बनने वाले Product की Quality आम Product से काफ़ी ज्यादा अच्छी होती है।
  • कई परतों द्वारा काम की दक्षता बढ़ जाती है |
  • CNC मशीन के Product में Dimensional Accuracy भी लगभग 99.9% तक कि होती है।
  • चूंकि ऑपरेटर की लगातार निगरानी करने की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए काम का कुल प्रदर्शन बेहतर हो जाता है ।
  • इस मशीन को चलाने के लिए सिर्फ़ एक ही व्यक्ति की जरूरत होती है।
  • Company को 99.99% तक अपेक्षित उत्पादन प्राप्त होता है |

CNC के types

दोस्तों CNC मशीन 4 प्रकार की होती है। इन सभी को इनके काम करने के तरीक़े के अनुसार ही बाँटा गया है। आइये जान लेतें हैं CNC मशीन कितने प्रकार की होती है।

Types of CNC-

  1. V.M.C.- Vertical machining Centre
  2. H.M.C.- Horizontal Machining Centre
  3. T.C.- Turning Centre
  4. T.M.- Turbo Mill

दोस्तों अब आइये कुछ Main CNC मशीनों के नाम भी जान लेते हैं जो कि आजकल Mechanical Industry में काफ़ी प्रयोग की जा रही हैं।
इन CNC मशीनों के नाम इस प्रकार है-

  1. Milling machine
  2. Lathes Machines
  3. Plasma cutters
  4. Electric discharge machining
  5. Multi Spindle Machines
  6. Water jet cutters
  7. Drills Machines
  8. Laser cutting
  9. 3D printing
  10. Glass cutting

दोस्तों हमने CNC full form in Hindi, इसके काम करने का तरीक़ा तथा CNC के प्रकार को तो जान लिया। अब आइये हम आपको ये भी बता दें कि आख़िर CNC मशीन का Use आज के समय में कौन-कौन से उपकरण बनाने में तथा कौन सी Industry में हो रहा है।

Use of CNC –

दोस्तों आजकल CNC मशीन का Use अधिकतर सभी Production Industry में किया जाता है। इन मशीनों का Use ऑटोमोबाइल सेक्टर में गाड़ियों के निर्माण में, तथा गाड़ियों के विभिन्न पार्ट्स को बनाने में किया जाता है। इसके साथ ही अन्य Metal, Plastic तथा सिरेमिक आदि के Product बनाने के लिए भी आजकल CNC का काफ़ी Use किया जाता है। Mobile Phone तथा Computer से लेकर घरों में Use होने वाले छोटे- छोटे उपकरणों के Parts भी अब CNC से ही बनाये जाते हैं। CNC मशीन से बने Product की दुनिया भर में भरमार है।

CNC पोस्ट पर हमारी राय

दोस्तों CNC मशीन की खोज़ ने Production के Field में काफ़ी बदलाव ला दिए हैं। अब इन मशीनो की मदद से बेहद कम समय में तथा कम खर्चें में काफ़ी अच्छा और कम समय में ही किसी Product का निर्माण करना सम्भव हुआ है। इसके साथ ही CNC पर काम करने के लिए बहुत कम Manpower की जरूरत होती है। इसका Production Rate भी काफ़ी ज़्यादा होता है। इन्ही कारणों से इन मशीनों से बने उपकरण काफ़ी कम दाम के भी होते हैं।

इस पोस्ट में हम ने जाना CNC क्या है, इसके काम और CNC full form in Hindi के बारे में. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

सीखो सिखाओ, India को digital बनाओ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!