February 27, 2021
आज हम जानेगे CBI full full in Hindi.

CBI full form – CBI क्या है और इसके काम की जानकारी?

CBI यानी सीबीआई का नाम तो आपने सुना ही होगा। अगर फिल्मों के शौकीन हैं तो तब तो यह नाम आपके कानों से कई बार गुजरा होगा। मसलन ‘स्पेशल 26’ आपको याद होगी तो वह फर्जी सीबीआई टीम भी जरूर याद होगी, जो छापा मारकर लाखों का माल अंदर करती थी। अंत में टीम पकड़ी जाती है और दर्शक एक बेहतरीन अनुभव लेकर घर आते हैं।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि सीबीआई का पूरा नाम क्या है, CBI full form, यह क्या काम करती है? इन दिनों वह चर्चा में है तो उसका सबब क्या है? आपका जवाब अगर न में है तो फिर आपके लिए आगे लिखा पढ़ना जरूरी हो जाता है।

CBI Full form in Hindi

आज हम जानेगे CBI full full in Hindi.
CBI full form

CBI की फुल फार्म है – Central Bureau of Investigation.

CBI in Hindi – सेंट्रल ब्यूरो आफ इन्वेस्टिगेशन।

इसे हिंदी में केंद्रीय जांच ब्यूरो भी पुकारा जाता है।

CBI को विशेष पुलिस के रूप में सन 1941 में स्थापित किया गया था। इस एजेंसी का मुख्यालय, भारत की राजधानी नई दिल्ली में है। CBI Indian government की सभी main investigation एजैन्सियो में से एक कहलाता हैं।

CBI का काम National Security से जुड़े हुए हर अलग-अलग तरह के मामलों की investigation करना होता है। यह Department of Personnel and Training के तहत अपना कार्य करती है। Federal Bureau of Investigation (FBI) और CBI के काम करने का तरीका लगभग same होता है ।

CBI की शरुआत

CBI की स्‍थापना आजादी से पहले सन् 1941 में हुई थी। शुरुआत में इसे विशेष पुलिस भी पुकारा जाता था। यानी कि अपने काम को अंजाम देने में इसे सामान्य पुलिस से कुछ अधिक अधिकार हासिल थे। वर्तमान में इसका मुख्यालय यानी हेडक्वार्टर नई दिल्ली में है।

कई यूथ बचपन से ही सीबीआई में अफसर बनने का सपना देखने लगते हैं। लेकिन इस एजेंसी में ग्रेड ए अफसर बनना थोड़ी मेहनत का काम है। संघ लोक सेवा आयोग यानी यूपीएससी का एग्जाम क्लियर करना पड़ता है। इंडियन पुलिस सर्विस यानी आईपीएस बनकर इसमें अधिकारी बना जा सकता है। इसके लिए लगकर तैयारी और कोचिंग करनी पड़ती है। साथ ही एक निर्धारित शारीरिक योग्यता भी है, जिस पर खरा उतरना पड़ता है।

CBI के काम

सीबीआई राष्ट्रीय सुरक्षा यानी नेशनल सिक्योरिटी से जुड़े मसलों को देखती है। सामान्य रूप से CBI इस तरह के मामले हैंडल करती है, जो देश के लिये अहम होते है, जैसे – बहुत बड़े घोटाले की जांच या किसी किसी बड़े फ्रोड का पता लगाना या सुप्रीम कोर्ट की तरफ से मिले केस। यह भी बता दें कि अगर CBI खुद से किसी को अहम मानें और उसे हैंडल करना चाहे तो कर सकती है। उसका कार्यक्षेत्र पूरा देश है।

CBI important काम परने पर Supreme Court के बुलाने पर हीं काम करती है। यदि CBI के हाँथ में एक बार कोई investigation आ जाती है तो फिर उसे किसी भी तरह की आदेश की अव्यशकता नहीं होती है। CBI को अपने तरीके से investigation करने का पूरा हक़ होता है । काम हाँथ में आते हीं CBI का team अपना काम करना शुरु कर देती है ।

CID की तरह CBI केवल अपने हीं state तक सिमित नहीं रहती है । जरुरत परने पर CBI दुसरे राज्यों में भी जा कर अपना investigation कर सकती है । CBI की team CID के team से कहीं ज्यादा ताकतवर होती है । यही वजह है की लोग बड़े बड़े cases की investigation की जांच CIB से करवाना चाहते है।

State Governments का CBI के ऊपर किसी भी तरह का दबाव यानि की Pressure नहीं रहता है। CBI के अधिकारी direct home Ministry को रिपोर्ट करते हैं। State government का सी.बी.आई से कोई connection नहीं रहता है। CBI के team का गठन भी Central level पर ही किया जाता है। भारत सरकार का भी मानना है की CBI पूर्ण रूप से independent होकर अपना काम करती है।

CBI Exam

CBI में दाखिला के लिए CGP SSC (Staff Selection Collection)  का exam को पास करना होता है। इस exams को देने के लिए candidate का graduation में minimum 55% marks होने अनिवार्य है । इस exams का form भरने time candidate का age 20 से 27 साल के बीच में होना चाहिए ।

दुरुपयोग के आरोप के दायरे में

CBI हालांकि एक स्वतंत्र जांच एजेंसी है, लेकिन कुछ समय से वह केंद्र के दुरुपयोग के आरोपों पर सवालों के दायरे में है। आरोप लगाने वाले सरकार बदलने पर दूसरी पार्टियों के नेताओं पर छापे और कार्रवाई का आरोप इस एजेंसी पर लगाती रही हैं। इस पर दबाव पर काम करने का भी आरोप लगता रहा है। यहां तक कि इसे ‘तोता’ कहकर भी पुकारा जाता रहा है।

इन दिनों इसलिए है चर्चा में

CBI इन दिनों चर्चा में है। इस चर्चा की वजह सीबीआई का किसी केस को खोलना नहीं है, बल्कि यह संस्‍था के भीतर भ्रष्टाचार पनपने के आरोपों के चलते चर्चा में बनी हुई है। मामला तब गरम हुआ, जब‌ सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्‍थाना ने सीबीआई चीफ आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। इसके बाद वर्मा और अस्‍थाना का विवाद सुर्खियों में आ गया। यह मामला अब कोर्ट में है।

Video में जाने

अगर आपको CBI के बारे में Video देख कर जाना है तो नीचे वाली video देखिये।

CBI पोस्ट पर हमारी राय

इस पोस्ट में हम ने जाना CBI क्या है, CBI के काम और CBI full form in Hindi. हमे comment में बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी. कोई सवाल हो तो ज़रूर पूछे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!