March 7, 2021

BS-6 In Hindi

अगर आपके पास पुरानी गाडी है तो सावधान हो जाएँ क्योकि हो सकता है की आपकी गाड़ी को अब रोड पर फर्राटा भरने में दिक्कत महसूस हो I भारत सरकार ने अब BS -5 के बजाय सीधे ही BS- 6 इंजन वाली गाड़ियों को ही रोड पर चलने की परमिशन दी हैI ऐसे में चाहे आपके पास पुरानी इंजन वाली गाडी हो या फिर आप कोई नई गाडी खरीदने का प्लान कर रहे हैंI  ये जरूर जान ले की आखिर बीएस -6 क्या है? क्या आपकी गाडी इस मानक को पूरा कर रही है या नही ? ऐसे में आज के इस पोस्ट BS -6 In Hindi, BS-6 Full form in hindi  के माध्यम से हम आपको BS -6 से जुडी सारी जानकारी देने वाले हैंI

वर्तमान में BS -4 लागू है।बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए BS -5 को छोड़ दिया गया है अर्थात पर्यावरण सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए BS-6 का मानक तैयार किया गया है, वर्तमान में BS -6 काफी चर्चा में है काफी लोगों को तो इसकी जानकारी भी नहीं होगी। आम लोगों को भी इसकी जानकारी होनी चाहिए लेकिन इसकी जानकारी सिर्फ ऑटो वर्ल्ड के ही लोग रखते हैं। ऑटोमोबाइल और तेल कंपनियां तो अभी से इसके लिए तैयारी में लग चुकी हैं।

What is BS-6 In hindi, BS-6 Full form in hindi
BS-6 – भारत स्टेज (Bharat stage emission standard)

वाहनों के प्रदूषण को मापने का एक मानक है। सरकार ने इसे 2000 में लॉन्च किया था। परंतु केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड समय- समय पर नए नए मानकों को लाती रहती है। लेकिन बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए भारत सरकार ने 1 अप्रैल 2020 से इसे लागू करने का फैसला किया है। बी एस के आगे लगने वाले नंबर से पता चलता है कि वहां कितना प्रदूषण उत्पन्न करता है। यानी उसपे लगे नंबर से हम प्रदूषण के बारे में पता कर सकते हैं यदि ये नंबर ज्यादा आता है तो इसका मतलब है कि प्रदूषण उतना ही कम होगा और यदि नंबर कम आता है तो इसका मतलब प्रदूषण ज्यादा होगा। इसमें कार्बन डाई ऑक्साइड, सल्फर, नाइट्रोजनऑक्साइड आदि निकलने वाली विषैली गैसों का मापन इंजन द्वारा किया जाता है। BS- 6 को सबसे कम मात्रा में प्रदूषक तत्व निकालने वाले वाहन के लिए एक मिनिमम स्टैंडर्ड के तौर पर रखा गया है। इसके बदलते मानक को देखते हुए ही कम्पनीयों को अपने वाहनों के इंजनों को अपग्रेड करना होता है।

इसको लाने से पहले इसके फायदे और नुकसान जान लेना बहुत जरूरी हैं।इसको लाने के साथ साथ ग्राहकों की जेब का भी ख्याल रखा जाना चाहिए।

◆BS -6 के फायदे:

BS-4 की तुलना में इसके द्वारा काफी कम प्रदूषण होगा।क्योंकि सीएसई के अनुसार BS-4 की तुलना में इसके ईंधन में सल्फर की मात्रा 5% तक कम होगी। इसके लागू होने से पेट्रोल और डीज़ल कारों के बीच ज्यादा अंतर नहीं रह जायेगा। ये तो सभी जानते हैं कि डीजल पेट्रोल की तुलना में ज्यादा प्रदूषण करता है तो इसके द्वारा नाइट्रोजन ऑक्साइड का डीजल वाहनों से 68% एवं पेट्रोल वाहनों से 25% तक प्रदूषण कम हो जाएगा
इसके वाहनों में एडवास एमिशन कंट्रोल सिस्टम भी लगा होगा किन्तु इसका पूरा लाभ जब मिलेगा जब वाहनों में BS-6 तकनीक आ जायेगी। इसके द्वारा पुरानी गाड़ियों से फैल रहे प्रदूषण का भी स्तर कम होगा। इसके वाहन BS-4 की तुलना में काफी अच्छा माइलेज देंगे।

BS-6 के नुकसान:

वैसे तो इसके पर्यावरण को काफी फायदे हैं लेकिन इसका आर्थिक रूप से नुकसान झेलना पड़ सकता है, BS-6 में अपग्रेड करने से डीजल वाहन की कीमत 2 लाख एवं पेट्रोल की 80,000 रुपए तक बढ़ सकती है।
इसका कारण वाहनों के इंजन में लगाये जाने वाले यंत्र बहुत महँगे होते हैं। जो कि साधारणतः वाहन की कीमत पर प्रभाव डालेंगे जिसका खर्चा ग्राहकों पर डाला जाएगा ।

इसे भी जाने-

Article 370 In Hindi

Like App se paise kaise kamaaye ?

BS-6 लागू करने में आने वाली चुनौतियां :

वर्तमान में कई बी एस- 6 वाहन आ चुके हैं, लेकिन अभी भी बी एस- 6 फ्यूल उपलब्ध नहीं कराए गए हैं, अर्थात भारत में बी एस- 6 मानक उपलब्ध कराने में कई सारी चुनौतियाँ सामने आने वाली हैं जिसमे सबसे बड़ी चुनौती बी एस -6 फ्यूल उपलब्ध कराना है।
इसके साथ छोटी कारों में BS-6 उत्सर्जन वाले यंत्र लगाने से वाहनों की डिज़ाइन में बदलाव किया जा सकता है, क्योंकि यह छोटी कारों में फिट नहीं बैठता है अंततः कार की डिज़ाइन में परिवर्तन द्वारा इसकी कीमत भी प्रभावित हो सकती है।

BS-6 को अपग्रेड करने से क्या होगा?

इस समय भारत में प्रदूषण काफी अधिक होने के कारण खासकर दिल्ली में तो काफी प्रदूषण है जिसके चलते BS -6 लाना काफी हितकारक साबित होगा, इसके अपग्रेड होने से वाहनों के द्वारा होने वाले प्रदूषण पर काफी हद तक रोक लगाई जा सकती है

आज के इस पोस्ट BS -6 In Hindi तथा BS-6 Full form In Hindi के माध्यम से हमने बीएस-6 के बारें में सारी जानकारी प्राप्त की I आशा करते हैं आपको हमारी ये पोस्ट BS-6 In Hindi  काफी पसंद आयी होगी Iआपको ये पोस्ट कैसी लगी इसके बारें में हमें कमेंट कर के जरूर बताएंI साथ ही अगर आपके पास कोई महत्वपूर्ण जानकारी तथा सुझाव या सलाह हो तो भी हमें कमेंट कर के जरूर बताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!